साहित्य शिल्पी नें एक पायदान और आगे बढाया है और इसी श्रंखला में आज विजयादश्मी को अपने सुधी पाठको को श्रोता भी बनाने की दृष्टि से हम अपनी महत्वाकांक्षी परियोजना स्वर शिल्पी को लोकार्पित कर रहे हैं। स्वर शिल्पी केवल इस लिये नहीं कि कुछ गीत-गज़लें या कोई एलबम हम आपके लिये ले कर प्रस्तुत हों, अपितु इस लिये कि स्वर एक सजीव माध्यम है। आप यहाँ सुन सकेंगे छोटे-छोटे बच्चों के गाये गीत तो कहानियाँ कथाकार के ही स्वर में। कवि सम्मेलनों के माध्यम से भी श्रोताओं को मंच से जोड़ने की कोशिश होगी तो हम नाटक भी प्रस्तुत करेंगे दृश्य तथा श्रव्य दोनों ही माध्यमों द्वारा। आप महान रचनाकारों के साक्षात्कार सुन सकेंगे तो परिचर्चायें और संवाद भी इस माध्यम द्वारा... आज विजयादश्मी को साहित्य शिल्पी समूह लोकार्पित करता है –स्वर शिल्पी!!!

लोकार्पण में सहभागिता के लिए वीडियो प्लेयर पर आरम्भ करें


माँ वागेश्वरी की वंदना नीचे प्लेयर पर सुने

13 comments:

  1. साहित्य शिल्पी को बधाई। प्रस्तुतियाँ सुनने को बेकरार हूँ अभी से। शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  2. साहित्य शिल्पी की की अब अपनी आवाज भी होगी, शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुंदर योजना और उसके कार्यान्वयन के लिए हार्दिक शुभकामनाएं मेरा कली सहयोग अपेक्षित हो तो मुझे मेल करें pkmanoria@gmail.कॉम
    मेरी नई रचना "शेयर बाज़ार पढने हेतु आपको सादर अपने इष्ट मित्रों सहित आमंत्रण है कृपया मेरे ब्लॉग पर पधारें और जाते जाते अपनी प्रतिक्रिया भी व्यक्त करें <> स्वागत है

    उत्तर देंहटाएं
  4. स्वर शिल्पी के शुभारंभ के शुभ अवसर पर मेरी शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. स्वर शिल्पी का स्वागत है. एक सुंदर और मधुर आवाज सुनने की प्रतीक्षा रहेगी. शुभ कामनाओं सहित

    उत्तर देंहटाएं
  6. पंकज सक्सेना9 अक्तूबर 2008 को 1:18 pm

    बहुत बहुत बधाई..स्वर शिल्पी और साहित्य शिल्पी को। ये शिल्पी कुछ गढ कर रहेंगे।

    उत्तर देंहटाएं
  7. स्वर शिल्पी के आरम्भ के लिए बहुत बहुत शुभकामनाएं और आभार. आने वाले समय में स्वर शिल्पी का माध्यम से बहुत सी विधाओं का श्रोता बनने का सोभाग्य प्राप्त होगा.. श्रीकांत जी जो इस दिशा में कार्य कर रहे हैं उन्हें बहुत बहुत बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  8. साहित्य शिल्पी का यह प्रयास सफल हो यह शुभकामना है। दशहरा की बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  9. Congratulations. A new milestone.

    - Alok Kataria

    उत्तर देंहटाएं
  10. ये प्रयास भी अत्यँत सफल होगा इसका विश्वास है ~~ विजया दशमी की शुभकामनाएँ भेज रही हूँ ~~
    स स्नेह्,
    - लावण्या

    उत्तर देंहटाएं
  11. स्वर शिल्पी और साहित्य शिल्पी को बधाई इस नये प्रयास के लिये।

    उत्तर देंहटाएं
  12. आदरणीय श्रीकांत जी का श्रम और साहित्य शिल्पी टीम की लगन नें एक नया मील का पत्थर रखा है। सभी को बधाई।


    ***राजीव रंजन प्रसाद

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget