भारत महान है!
हम हंसते हैं पश्चिम पर
सीता और सावित्री पर नाज़ है हमें
हमारी हीरोइन को कोई विदेशी चूमे
तो हल्ला मचाते हैं !
यह हमारा अधिकार है
कि छोटी बच्चियों से दुष्कृत्य करके
मारकर खा जाएँ,
हड्डियाँ फेंक दें गंदे नाले में!
हम मानते हैं
औरत तो त्याग की मूर्ती होती है
भारत महान है!

मित्तल ने आर्सेलर खरीदी
गर्व से सर ऊँचा हो गया!
अब नही दीखते हमें
घुटनो के बल बैठे,
प्याज-रोटी खाते मजबूर लोग!
आत्म निर्भर हो गये हैं हम..
रिज़र्व बैंक के भरोसे नही हैं अब
खुद ही छापते हैं नोट और स्टांप पेपर!
किडनी माफिया प्रतीक है
मज़बूत जीवनी शक्ति का
वो बताता है दुनिया को
गोरों की तारह नाज़ुक नहीं हम!
आसानी से जी सकते हैं
एक किडनी के साथ भी|
भारत महान है!

अनेकता में एकता शान है हमारी
बिहारियों का किस्सा
और बात है!
वोटों का दूध पीने आई थी
पर गिर गया तपेला
राज ठाकरे नाम की बिल्ली,
घुस आई है घर में!
बर्तन किस घर में नही खनकते भाई?
शहीदों के ताबूत खाकर भी
नहीं डकारते|
हाजमा अच्छा है!
किसी नवजात को गटर में फेंकते हैं
और करोड़ों चैरिटी में भी देते हैं हम !
मारकाट मचाते हैं, दंगा करवाते हैं!
फिर मुन्ना भाई को देखकर
ताली भी बजाते हैं|
गाँधी जागीर है हमारी..
उसके सिद्धांतों पर विश्वास है हमें
भारत महान है!

ये भारत है
एडल्ट फिल्मों का देश!
सानिया का स्कर्ट तकलीफ़ देता है,
उघड़ी टांगे ख़टकती हैं हमें
फ़तवे ज़ारी कर दिए जाते हैं!
धर्म का मामला है..नो कमेंट्स!
गाय के चमड़े के सबसे बड़े निर्यातक हम
कहते है - "गाय हमारी माता है"
रसोई की पहली रोटी खिलाते हैं
फिर काटकर खा जाते हैं उसे!
दंगे करवाओ,वोट पाओ,
गोशाला का चंदा खाओ..
मल्टीपरपज़ है गाय
तभी तो हमारी माता है!
हम मानते हैं..
कृष्ण-कन्हैया प्रेम के पुजारी हैं
पर संत वेलेंटाइन
उन पर थोड़े से भारी हैं !
अच्छी बातें आत्मसात करना
संस्कृति है हमारी!

सुनहरे अतीत का गौरव
गाते नहीं थकते
सोने की चिड़िया थे कभी!
जानते हैं हम..
मरा हाथी भी कम कीमती नहीं होता!
इसीलिए तो..
भारत महान है!

सिद्ध करना है हमें
पश्चिम से अच्छे हैं हम
देखिए ...
अमेरिका से सस्ता है यहाँ
मैकडोनाल्ड्स
ये अकाट्य तर्क है
जो सिद्ध करता है..
भारत सचमुच महान है!

12 comments:

  1. आज के भारत पे कटाक्ष करती आपकी कविता अच्छी लगी...

    उत्तर देंहटाएं
  2. सिद्ध करना है हमें
    पश्चिम से अच्छे हैं हम
    देखिए ...
    अमेरिका से सस्ता है यहाँ
    मैकडोनाल्ड्स
    ये अकाट्य तर्क है
    जो सिद्ध करता है..
    भारत सचमुच महान है!

    भारत के वर्ग-विभेद और हालात पर सही चित्र प्रस्तुत करती है आपकी कविता।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत अच्छी कविता, भारत की वास्तविकता यही है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही अच्छी कविता है विपुल जी। बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  5. पंकज सक्सेना30 नवंबर 2008 को 5:53 pm

    विश्लेषण अच्छा किया है आपने, बारीक पकड है शब्द पर और अर्थ पर। कविता चोट करती है।

    उत्तर देंहटाएं
  6. समाज की कुरूप मानसिकता और अपने बडबोले पन का सटीक चित्रण करती कविता.. बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  7. विपुल !
    आपकी बात , अंदाज़ और कूटने का तरीक़ा बहुत भाया।
    कहां ग़ुम थे इतने दिनों से ?

    प्रवीण पंडित

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget