नेहरु चाचा आओ ना
दुनिया को समझाओ ना
बच्चे कितने प्यारे होते
कोई उन्हे सताये ना

नेहरु चाचा आओ ना
मधुमुस्कान दिखाओ ना
तुम गुलाब कि खुशबू हो
बचपन को महकाओ ना

नेहरु चाचा आओ ना
उजियारा फैलाओ ना
देशभक्त हों, पढें लिखें
एसा पाठ पढाओ ना

नेहरु चाचा आओ ना

*****

25 comments:

  1. के के जी,
    आज के दिन बच्चों के साथ साथ चाचा नेहरू को याद करने का क्या बढिया उदाहरण दिया है... अच्छी कविता...बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  2. चाचा नेहरू को याद किये बिना कैसा बाल दिवस? आपने यह कमी पूरी कर दी। अच्छी कविता।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत अच्छी कविता तो नही कही जा सकती परन्तु सार्थक और सच्ची कविता !

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. पंकज सक्सेना14 नवंबर 2008 को 2:30 pm

    बच्चों को नेहरू जी का संदेश देती यह कविता अच्छी है। अब इस पीढी से ही कोई नेहरू देश को मिलेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  7. सुंदर बाल कविता | "आओ ना " की पुनरावृत्ति से कविता निखर कर आयी है |

    उत्तर देंहटाएं
  8. नेहरु चाचा आओ ना
    उजियारा फैलाओ ना
    देशभक्त हों, पढें लिखें
    एसा पाठ पढाओ ना
    अच्छी अभिव्यक्ति है।

    उत्तर देंहटाएं
  9. अच्छा पाठ पढाया आपने। बहुत अच्छी कवित है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. पंकज सक्सेना14 नवंबर 2008 को 6:16 pm

    कविता अच्छी है और आज के दिन के अनुकूल भी।

    उत्तर देंहटाएं
  11. तुम गुलाब कि खुशबू हो
    बचपन को महकाओ ना

    अच्छी बाल कविता है। बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  12. नेहरु चाचा आओ ना
    मधुमुस्कान दिखाओ ना
    तुम गुलाब कि खुशबू हो
    बचपन को महकाओ ना
    .....सार्थक और सच्ची अभिव्यक्ति है। के के जी को बधाई!!

    उत्तर देंहटाएं
  13. अच्छी कविता...


    बाल दिवस की
    आप सभी को.... बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  14. समयानुकूल सराहनीय बाल गीत ।
    बच्चों के बिना दिवस क्या , और बाल दिवस के बिना चाचा नेहरु क्या ।

    प्रवीण पंडित

    उत्तर देंहटाएं
  15. संदेशात्मक कविता... बाल दिवस की बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  16. बहुत अच्छी बाल कविता है। नेहरू चाचा को इस माध्यम से याद करना बहुत अच्छा रहा।

    ***राजीव रंजन प्रसाद

    उत्तर देंहटाएं
  17. अच्छी कविता,बच्चों के लिए सरल और सही

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget