12 comments:

  1. सही कार्टून है. स्कूल और अस्पताल में कभी मंदी नहीं आएगी.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सहित्य शिल्पी को पढ़ता रहता हू, बहुत ही अच्छे और सच्चे मन से साहित्य की सेवा कर रहा है। मेरी ओर से साहित्य शिल्पी के सभी सदस्यों को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. वाह.. !!
    अभिषेक जी

    इसे कहते हैं गरम लोहे पर हथौडे की सही चोट ... परन्तु मित्रवर यहाँ तो फ़िर भी कुछ नहीं होने वाला .... शुभकामना, बढ़िया कार्टून के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  4. अंधागिरी तो हर जगह

    दौड़ती है हर पल

    पल पल हर पल।

    उत्तर देंहटाएं
  5. स्कूल अब व्यापारिक संस्थान हो गये हैं यह सत्य है। और इनका धंधा मंदा हो ही नहीं सकता।

    ***राजीव रंजन प्रसाद

    उत्तर देंहटाएं
  6. सही कहा आपने। अच्छा कार्टून है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. स्कूलों के व्यापार पर आपका व्यंग्य तगडा है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत अच्छा कार्टून है। बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  9. भईये सब मार गरीबों ही पर पडती है... छटनी हो, मंदी हो या कुछ और हो..

    वैसे स्कूल अब स्कूल/कालेज/अस्पताल रह कहां गये हैं.. यह तो सब कमर्शिलय दुकाने हैं..

    बहुत उपयुक्त कार्टून.. आभार

    उत्तर देंहटाएं
  10. एक व्यंग्य -वाक्य मे सम्पूर्ण कथानक प्रस्तुत करना कोई अभिषेक तिवारी से सीखे।
    प्रवीण पंडित

    उत्तर देंहटाएं
  11. abhishek ji ,

    is behatren cartoon ke liye aapko bahut bahut badhai ..

    desh mein ab yahi to chal raha hai .

    aapka
    vijay
    http://poemsofvijay.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget