एक सूचना नाटक से संबंधित [नाट्य जगत की गतिविधियाँ] - योगेश समदर्शी

मानव कौल , नाट्य क्षेत्र के जाने माने डायरेक्टर के नाटक "शक्कर के पांच दाने का" नोमिनेशन थियेटर जगत के आस्कर पुस्कार के रूप में ज...

उजाले सिया करते हैं [कविता] - अमन दलाल

रचनाकार परिचय:- मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में जन्मे अमन दलाल एमिटी विश्वविद्यालय, नोएडा में बी.टेक. के विद्यार्थी हैं। लेखन में ...

बाल अपराध: बिगड़ता बचपन, भटकता राष्ट्र [आलेख] - डा० वीरेन्द्र सिंह यादव

किसी भी राष्ट्र का भावी विकास और निर्माण वर्तमान पीढ़ी के मनुष्यों पर उतना अवलम्बित नहीं है जितना कि आने वाली कल की नई पीढ़ी पर। अर्थात् आज ...

प्यारा धंधा प्यार का [आलेख] - वरुण पाठक

जी हाँ, कृष्ण और राधा के पवित्र प्रेम का बिगड़ा रूप ही प्यार है। कहने को तो यह प्रेम का ही पर्यायवाची है लेकिन इसके मायने माडर्न हो चले हैं ...

"टुकड़ा टुकड़ा नारी" [कविता] - मधु अरोरा

रचनाकार परिचय:- मधु अरोड़ा का जन्म जनवरी, १९५८ को हुआ। आप वर्तमान में भारत सरकार के एक संस्थान में कार्यरत हैं आपने अनेक सामाजिक...

है ये रंग बिरंगे फूल [बाल-कविता] - रचना सागर

रचनाकार परिचय:- रचना सागर रचना सागर का जन्म 25 दिसम्बर 1982 को बिहार के छ्परा नामक छोटे से कस्बे के एक छोटे से व्यवसायिक परिव...

रात बीती जा रही है [गीत (स्वर व संगीत: कुमार आदित्य विक्रम)] - महेन्द्र भटनागर

वरिष्ठ कवि श्री महेन्द्र भटनागर के गीत व कवितायें स्वर शिल्पी पर आप पहले भी सुनते रहे हैं। इसी क्रम में आज प्रस्तुत है एक गीत; बोल हैं: ...

दिव्या माथुर के लेखन में प्रवासी जीवन के जीवंत चित्र [साहित्य समाचार] - पवन वर्मा

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद के महानिदेशक एवं प्रसिद्ध लेखक पवन वर्मा ने ब्रिटेन की प्रसिद्ध कहानीकार दिव्या माथुर की पु...

मोर्चे पर स्त्री [कविता] - मीनाक्षी जिजीविषा

रचनाकार परिचय:- मीनाक्षी जिजीविषा कवयित्रियों में महत्वपूर्ण स्थान रखती हैं। आपकी अनेक संयुक्त काव्य संकलन प्रकाशित हैं, ज...

सर्द ज़मीन [कहानी] - सुमन बाजपेयी

वह बैग उठाए घर की दहलीज के बाहर कदम रख देती है। इसके साथ ही कहानी खत्म हो जाती है। लतिका कहानी के समापन को एक अवास्तविक मोड़ मान उसका व...

जब मौन पिघल जाता है [एक संवाद] - शेफ़ाली 'नायिका'

संवादों के पुल पर खड़े थे हम दोनों और नीचे खामोशी की नदी बह रही थी न जाने कौन-सा शब्द बहुत भारी हो गया कि जब चलने को हुए तो पुल टूट गया... ...

उदासीन [कविता] - देवेश वशिष्ठ 'खबरी'

रचनाकार परिचय:- देवेश वशिष्ठ उर्फ खबरी का जन्म आगरा में 6 अगस्त 1985 को हुआ। लम्बे समय से लेखन व पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड...

रख जेब में दुनियादारी क्या [ग़ज़ल] - श्रद्धा जैन

कवि परिचय:- श्रद्धा जैन अंतर्जाल पर सक्रिय हैं तथा ग़ज़ल विधा में महत्वपूर्ण दख़ल रखती हैं। आप शायर फैमिली डॉट् क़ॉम का...

कुछ अन्य भाषागत विशेषतायें [ग़ज़ल : शिल्प और संरचना] - प्राण शर्मा

लोकोक्ति और मुहावरे का महत्व लोकोक्ति और मुहावरे का महत्व इतना अधिक है कि इनके प्रयोग से गीत ग़ज़ल को चार चाँद लग जाते हैं। उस्ताद शायरों...

तुझमें रब दिखता है.. [सप्ताह का कार्टून] - अभिषेक तिवारी

रचनाकार परिचय:- अभिषेक तिवारी "कार्टूनिष्ट" ने चम्बल के एक स्वाभिमानी इलाके भिंड (मध्य प्रदेश्) में जन्म पाया। पिछले २३ सालों...

एक पाती नेह की [कविता] - शोभा महेन्द्रू

दिल की कलम से लिखती हूँ रोज़ एक पाती नेह की और तुम्हें बुलाती हूँ पर तुम नहीं आते शायद वो पाती तुम तक जाती ही नहीं दिल की पाती है...

भागीरथ जेल में [व्यंग्य] - आलोक पुराणिक

गंगा को जमीन पर लाने वाले अजर-अमर महर्षि भगीरथजी स्वर्ग में लंबी साधना के बाद जब चैतन्य हुए, तो उन्होने पाया कि भारतभूमि पर पब्लिक पानी की स...

तेरी आँखों मेँ आसमाँ [कविता] - विश्वदीपक तनहा

तेरी आँखों में आसमाँ आकर यूँ भर गया, तूने उठाई पलकें जो, सूरज सँवर गया। तारों के तार बुन रही पलकों के कोर पर, उस चाँदनी का हुस्न, गिरकर ...

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget