यह समाचार चिंतित कर रहा है कि साहित्य शिल्पी "मेजर गौतम राजरिशी" भारत पाक सीमा पर हुई गोलीबारी में घायल हो गये है। साहित्य शिल्पी परिवार गौतम जी के जज्बे को सलाम करता है। एक शायर केवल नर्म दिल ही नहीं रखता वरन गर्म हौसला भी रखता है इसी लिये देश के दुश्मन हमारी शस्य-श्यालमा भूमि पर आँख उठाने का दुस्साहस नहीं करते। साहित्य शिल्पी परिवार आपके स्वास्थ्य को ले कर बेहद चिंतित है और साथ ही हमे गर्व है आप पर। आज प्रस्तुत है मेजर राजरिषी की एक ग़ज़ल उनके ही सम्मान में: -

उनका हर एक बयान हुआ
दंगे का सब सामान हुआ

नक्शे पर जो शह्‍र खड़ा है
देख जमीं पे बियाबान हुआ

झोंपड़ ही तो चंद जले हैं
ऐसा भी क्या तूफ़ान हुआ

कातिल का जब से भेद खुला
हाकिम क्यूं मेहरबान हुआ

कोना-कोना घर का चमके
है जब से वो मेहमान हुआ

आँखों में सनम की देख जरा
कत्ल का मेरे उन्वान हुआ

एक हरी वर्दी जो पहनी
दिल मेरा हिन्दुस्तान हुआ

***************


मेजर गौतम राजरिशी से फोन पर वार्ता हुई। उन्हे हाँथ में गोली लगी है, गोली निकाल दी गयी है तथा वे अभी अस्पताल में ही स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं। साहित्य शिल्पी परिवार इस बात से संतोष का अनुभव करता है कि वे स्वस्थ हो रहे हैं तथा उन्हें जल्द ही अस्पताल से छुट्टी मिल जायेगी।

साहित्य शिल्पी परिवार अपने शायर पर गर्व का अनुभव करता है

रचनाकार परिचय:-
मेजर गौतम राजरिशी का जन्म १० मार्च, १९७६ को सहरसा (बिहार) में हुआ। राष्ट्रीय रक्षा अकादमी व भारतीय सैन्य अकादमी में प्रशिक्षण प्राप्त करने के उपरांत वर्तमान में आप कश्मीर में पदस्थापित हैं।

गज़ल व हिन्दी-साहित्य के शौकीन गौतम राजरिशी की कई रचनायें कादम्बिनी, हंस आदि साहित्यिक पत्रिकाओं में प्रकाशित हैं।

अपने ब्लाग "पाल ले एक रोग नादाँ" के माध्यम से आप अंतर्जाल पर भी सक्रिय हैं।

26 comments:

  1. एक हरी वर्दी जो पहनी
    दिल मेरा हिन्दुस्तान हुआ

    मेजर राजरिशी के स्वास्थ्य की सूचना देने का कष्ट करेंगे। उनके जज्बे को सलाम।

    उत्तर देंहटाएं
  2. तुम सीमा पर डटे हो
    जीना यहाँ आसान हुआ!!


    -मेजर गौतम को सलाम!!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. राजरिशी जी आपको सलाम। यह ग़ज़ल भी बहुत अच्छी है और आपने यह शेर स्वयं पर ही सिद्ध किया -
    एक हरी वर्दी जो पहनी
    दिल मेरा हिन्दुस्तान हुआ

    उत्तर देंहटाएं
  4. एक हाथ में कलम और एक में राइफल लेकर चलने वाले इस सिपाही लेखक को सलाम। उनके शीघ्र स्वास्थ्यलाभ की ईश्वर से कामना है!

    उत्तर देंहटाएं
  5. जिन की कलम से संवेदना की स्‍याही बहती है, वे ही भारत माँ की रक्षा करने के लिए तत्‍पर रहते हैं। मेजर गौतम ने सिद्ध किया है कि देश का जज्‍बा क्‍या होता है। उनकी बेहतरीन गजल के लिए उन्‍हें आशीष।

    उत्तर देंहटाएं
  6. एक हरी वर्दी जो पहनी
    दिल मेरा हिन्दुस्तान हुआ
    आप जल्द से जल्द स्वस्थ हों कामना करती हूँ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. एक हरी वर्दी जो पहनी
    दिल मेरा हिन्दुस्तान हुआ
    " देश के प्रति जोश और जूनून से भरे ये शब्द किसकी ऑंखें नाम न करेंगे.....आप का ये जोश कायम रहे , दुआ है आप जल्द ही स्वास्थ्य लाभ करे हम सभी को आप के इस जज्बे और हौसले पर गर्व है"
    regards

    उत्तर देंहटाएं
  8. आप शीघ्र स्वस्थ हों, शुभकामनायें। आपके साहस को सलाम।

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपकी ग़ज़ले हमेशा ही अच्छी होती हैं। आप जल्द अच्छे हों यह प्रार्थना है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. यही इस देश की विशेषता है यहाँ कोमल ख्यालों वाले शायर भी वक्त पडने पर फौलाद के जिगर वाले हो जाते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  11. सलाम मेजर साहब। आप जल्द ठीक हों और फिर फिर आपकी शायरी की महफिल सजे।

    अनुज कुमार सिन्हा
    भागलपुर

    उत्तर देंहटाएं
  12. गौतम जी आपको सलाम। आपके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना के साथ आपका -डॉ. नंदन

    उत्तर देंहटाएं
  13. एक हरी वर्दी जो पहनी
    दिल मेरा हिन्दुस्तान हुआ
    आपके लिये सटीक शेर है।

    उत्तर देंहटाएं
  14. मेजर राजरिशी जी की शीघ्र स्वास्थय लाभ की ईश्वर से कामना है.
    दिलकश गजल के लिये आभार..
    सचमुच इस वर्दी की कीमत एक पूर्ण रूप से देश के लिये समर्पित व्यक्ति ही जान पाता है. आपके जज्बे को सलाम

    उत्तर देंहटाएं
  15. abhi vo theek haiN abhi meree unse baat huee hai, bhagwan unko lambee umr de. unke baju me goli lagee thee 22 taarikh ko...pramatma unko lambee umr de!!

    उत्तर देंहटाएं
  16. खूबसूरत ग़ज़ल .... मजोर साहब को मेरा सलाम .. मुझे यकीन है वे शीघ्र ही पूर्णतः स्वस्थ हो और नयी ग़ज़लें ले कर प्रस्तुत होंगे ....

    उत्तर देंहटाएं
  17. मेजर गौतम राजरिशी से फोन पर वार्ता हुई। उन्हे हाँथ में गोली लगी है, गोली निकाल दी गयी है तथा वे अभी अस्पताल में ही स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं।

    साहित्य शिल्पी परिवार इस बार से संतोष का अनुभव करता है कि वे स्वस्थ हो रहे हैं तथा उन्हें जल्द ही अस्पताल से छुट्टी मिल जायेगी।

    साहित्य शिल्पी परिवार अपने शायर पर गर्व का अनुभव करता है।

    उत्तर देंहटाएं
  18. आप स्वस्थ हो रहे हैं यह सुकून देने वाला समाचार है।

    उत्तर देंहटाएं
  19. मेजर गौतम के स्वास्थ्य का समाचार जान कर प्रसन्नता ही, वे शीघ्र स्वस्थ हों, शुभकामनायें हमारी ओर से।

    उत्तर देंहटाएं
  20. गोली जो तेरी बाँह में लगी है:
    उससे हमारा भी सीना छलनी हुआ है,
    तुझसे मेरा आँचल आबाद रहे,
    यह तेरे लिए इक माँ की दुआ है.
    हे ईश्वर! मेरे बहादुर बेटे को शीघ्र स्वस्थ कर दे
    ____किरण सिन्धु..

    उत्तर देंहटाएं
  21. एक हरी वर्दी जो पहनी
    दिल मेरा हिन्दुस्तान हुआ
    आप सभी को विजया दशमी की शुभकामनाएं तथा आगामी दीपावली के त्यौहार भरे दिनों के लिए भी मेजर गौतम की बहादुरी से
    भारत माता के हर बालक के दिल में
    यही केसरिया रंग गहरा गया है
    जीते रहो --
    सदा खुश रहो -
    - पूर्ण स्वस्थ होकर
    दुश्मनों के डांट खट्टे कर देना --

    उत्तर देंहटाएं
  22. aap jaeson ki vajah se hi hum chaen ki sans lete hain pr hum shayad sochte nahi .aap ki mera pranam hai ayr bhagvan se prarthna hai ki aap jaldi se theek hojayen.

    saader
    rachana

    उत्तर देंहटाएं
  23. मेजर राजरिशी जी को सलाम ..

    ग़ज़ल भी बहुत अच्छी है...

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget