चौटाला की चोट


आसमान पर..


बाल बच्चेदार

--------------
नाम: सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट )
आयु: ४७ वर्ष
पेशा: स्वतंत्र कार्टूनिस्ट
अन्य जानकारियां कार्य अनुभव २५ वर्षों का ! अबतक १५००० हजार से भी अधिक कार्टून प्रकाशित!
कुछ प्रमुख पत्र-पत्रिकाएं जहाँ कार्टून प्रकाशित हुए या हो रहे हैं:
दैनिक हिंदुस्तान, प्रभात खबर, रांची एक्सप्रेस, सन्मार्ग, अपनी रांची, देशप्राण, सरिता, मेरी सहेली, वामा, गृह सहेली, बिंदिया, प्रथम प्रवक्ता, नूतन कहानियाँ, सच्ची कहानियां, सरस सलिल, दी पब्लिकअजेंडा, राज माया, संपादक, नंदन, बाल भारती, बाल हंस, बाल भाष्कर, दीवाना तेज साप्ताहिक, लोटपोट, मधुमुस्कान, आनंद डाइजेस्ट, मेला, माधुरी, आदि.....
ब्लोग्स- http://sureshcartoonist.blogspot.com. www.sahityashilpi.com

12 comments:

  1. रेल्वे के हालात सही बयाँ हुए हैं। बहुत अच्छे कार्टून हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. मँहगायी पर सुरेश जी के अब तक प्रस्तुत सभी कार्टून अच्छे बने हैं। इस बार वाला भी दमदार है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत अच्छे कार्टून हैं तीनो प्रभावित करते हैं। आपके रंगप्रयोग अच्छे लगते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बात कहने का निराला तरीका

    उत्तर देंहटाएं
  5. sam-saamaayik dhatnao per vyang-chitra ke madhyam se Suresh Sharma dwara ki gai tippniya bahut hi saral tarike se sandesh dene mein saksham hain..... dhanyavaad Suresh.

    उत्तर देंहटाएं
  6. sam-saamaayik ghatnao ko madhye najar rakhte huy,vyang-chitrakarita dwara Suresh ji ki tippaniya apna sandesh bahut hi saralta se pahuchane mein sksham hain.
    Suresh aise hi lage raho....

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget