मान्यवर नेता जी, प्रणाम।

एक बार फिर से चुनाव में विजयी हो हमारे क्षेत्र का पुन: प्रतिनिधित्व करने के लिए आपको बहुत-बहुत बधाई...अपने पिछले कार्यकाल के दौरान आपने हमारे क्षेत्र के लिए जो-जो कार्य किए...उनके लिए आप प्रशंसा के पात्र हैँ...आपकी पुरज़ोर कोशिशों के चलते ही इलाके में तीन किलोमीटर लम्बे फ्लाईओवर एवं सबवे का निर्माण सँभव हो पाया...जिससे क्षेत्र की जनता को हर दिन घंटों तक लगने वाले जाम में फँसे रहने से मुक्ति मिल गई है...अपने क्षेत्र की जनता पर किए गए आपके इस एहसान के बदले हम आपके सदैव ऋणी रहेंगे..लेकिन एक जिज्ञासु एव जागरूक मतदाता होने के नाते मेरे दिमागी भंवर में आपकी नेतृत्व क्षमता को लेकर कुछ प्रश्न मंडरा रहे हैँ...राईट ओफ इनफार्मेशन कानून के तहत मैँ उनका उत्तर आपसे जानना चाहूँगा..उम्मीद है कि आप मुझको निराश नहीं करेंगे

आपने हमारे यहाँ की कच्ची गलियों को कंक्रीट की बनवा हमें कीचड़ एवं बदबू भरे माहौल से मुक्ति दिलवा दी ...इसके लिए हम आपके बहुत-बहुत आभारी हैँ...लेकिन इन गलियों के कच्चे से पक्के होने के पूरे प्रकरण में आपके कितने घर कच्चे से पक्के हो गए?...ये बतलाने की कृपा करेंगे आप?...

आप अच्छी-भली स्ट्रीट लाईटों को खंबों समेत बदलवा उनका नवीनीकरण करवा रहे हैँ..ये बहुत अच्छी बात है लेकिन बदले गए इन पुराने खंबों का क्या होगा?...क्या उन्हें पुन: इस्तेमाल के लिए संभाल कर रखा जाएगा या फिर किसी दिन उन्हें निष्क्रिय एवं नाकारा घोषित कर किसी स्क्रैप डीलर को कबाड़ के भाव तौल दिया जाएगा?...मेरा मन कहता है कि पुरानी चीज़ों को सम्भाल कर रखना बेवाकूफी से बढकर कुछ नहीं है...उम्मीद है कि मेरी इस बात से आप भी सहमत होंगे...अगर ऐसा है तो उन्हें किस कबाड़ी को और कितनी रकम के बदले बेचा जाएगा?...उसमें से आपका और आपके मातहतों का कितना हिस्सा होगा?...ये बतलाने की कृपा करेंगे आप?...

आपकी छत्रछाया में हमारे इलाके की सड़कों...फुटपाथों एवं कूड़ेदानों के नवीनीकरण के जरिए शहर का सौन्द्रीयकरण हो रहा है...ये हमारे लिए गर्व की बात है लेकिन इस सारे प्रकरण के जरिए आप कितने नोट अपनी तिजोरी के अन्दर करेंगे?...ये बतलाने की कृपा करेंगे आप?....

अपने क्षेत्र के मतदाताओं की बेरोज़गारी दूर करने के लिए आपके राज में नई नौकरियाँ गढी एवं दी जा रही हैँ...इन भर्तियों की एवज में आप कितनों की?...किस तरह(कैश..चैक...मनी आर्डर या बैंक ड्राफ्ट/क्रैडिट कार्ड)? और कितनी जेब ढीली करेंगे?...ये बतलाने की कृपा करेंगे आप?...

आपके सतत प्रयासों के जरिए हमारा इलाका साफ-सुथरा एवं सुन्दर बनता जा रहा है...इसके लिए आप प्रशंसा के पात्र हैँ ...इसी बात को जान कर यहाँ पर सफाई कर्मचारियों ने भी हाज़री लगाना लगभग बन्द सा कर दिया है...उनकी इस गैरहाज़री के बदले आप कितनी रकम अपनी तिजोरी के अन्दर हाज़िर करते हैँ?...ये बतलाने की कृपा करेंगे आप?

आप ज़मीन से जुड़े हुए नेता हैँ..इसलिए आपके राज में रेहड़ी-पटरी एवं खोमचे वाले खूब फल-फूल रहे हैँ...उन्हें इस पूरे इलाके को नर्क बनाने की छूट देने के बदले आप उनसे कितना और कब-कब वसूलते हैँ?...ये बतलाने की कृपा करेंगे आप?..

आपके इलाके में खाली पड़ी निजी एवं सरकारी ज़मीनों पर कब्ज़ा कर झुग्गी माफिया(गरीब-गुरबा बेघर लोगों को छत प्रदान कर पुण्य का काम करते हुए)लाखों-करोड़ों के वारे-न्यारे कर रहा है...शहर का मुखिया होने के नाते इसमें आपका कितना बड़ा हिस्सा है?...ये बतलाने की कृपा करेंगे आप?...

प्रश्न तो अभी दिल में और भी कई हैँ लेकिन एक साथ इतने प्रश्नों का उत्तर देने से उत्पन्न होने वाली दुविधा को समझते हुए मैँ अपने इस पत्र को यहीं विराम देते हुए आपसे एक अंतिम निवेदन करना चाहता हूँ कि इस बार विजयी होने पर आपने पूरे क्षेत्र में जगह-जगह जो अपने आदमकद पोस्टर लगवाए हैँ...उनसे शहर का सौन्दर्य बिगड़ने के साथ-साथ आते-जाते लोगों का ध्यान भी बार-बार बंट रहा है जिससे आए दिन नित नई दुर्घटनाओं के घटित होने की संभावना बलवती होती जा रही है...आपसे निवेदन है कि उन्हें हटवा कर आप उन सब के बजाए पूरे क्षेत्र में अपना सिर्फ एक आदमकद पोस्टर किसी प्राईम लोकेशन पर लगवाएँ...

इससे शहर भी साफ-सुथरा रहेगा और आते-जाते वहाँ से गुज़रने वाले क्षेत्र के जिम्मेदार एवं प्रबुद्ध नागरिकों को आप पर थूकने में किसी किस्म की असुविधा भी नहीं होगी

विनीत:
अपने अधिकारों एवं कर्तव्यों के प्रति सचेत एक जिम्मेदार नागरिक

जय हिंद

--
राजीव तनेजा

2 comments:

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget