आगामी 13- 14 नवम्बर 2010 को जन संस्कृति मंच का 12 वाँ राष्ट्रीय सम्मेलन भिलाई - दुर्ग में होने जा रहा है ।

इस सम्मेलन का उद्घाटन सत्र शनिवार 13 नवम्बर 2010 को शाम 4 बजे शहीद शंकर गुहा नियोगी हाल . बी मार्केट सेक्टर छह भिलाई में सम्पन्न होगा । उद्घाटन सत्र में “ मुक्तिबोध स्मृति व्याख्यान माला “ के अंतर्गत “ सत्ता और संस्कृति विषय पर मुख्य वक्ता श्री मंगलेश डबराल का व्याख्यान होगा । श्री अनिल सदगोपाल व श्री नवारुण भट्टाचार्य के अतिरिक्त मित्र संगठनों के वक्ताओं का भी सम्बोधन होगा । अध्यक्षीय सम्बोधन प्रो. मैनेजर पाण्डेय करेंगे ।

सम्मेलन का दूसरा सत्र इसी दिन शाम 7.30 पर प्रारम्भ होगा जिसमे “ भारतीय चित्रकला के प्रगतिशील पक्ष पर श्री अशोक भौमिक का व्याख्यान होगा ।

तीसरा सत्र रात 8 बजे से प्रारम्भ होगा जिसमें बंगाल के लोक गीत नृत्य “ बाउल “ की प्रस्तुति की जायेगी ।

इस अवसर पर कला कम्युन बनारस व स्थानीय कलाकारों की कृतियों का प्रदर्शन भी किया जायेगा । कला कम्युन बनारस की ओर से कलाकार राधिका जी व अर्जुन जी ने कुछ कविता पोस्टर्स भी तैयार किये हैं ।

इन पोस्टर्स में से बाबा नागार्जुन की कविताओं पर बने तीन पोस्टर्स मैं यहाँ प्रस्तुत कर रहा हूँ ।

14 नवम्बर की शाम श्री नवारुण भट्टाचार्य की अध्यक्षता में आयोजित काव्यपाठ में सर्वश्री विनोद कुमार शुक्ल , मंगलेश डबराल , वीरेन डंगवाल , मदन कश्यप , पंकज चतुर्वेदी , विद्रोही जी , व्योमेश शुक्ल , शिरीष मौर्य सहित अन्य आमंत्रित कवि काव्यपाठ करेंगे ।

4 comments:

  1. मुझे कविता पोस्टर अच्छे लगे। इसके साथ ही मैं कहना चाहूंगा कि साहित्य शिल्पी पर हर रचना के साथ जो कविता पोस्तर लगते हैं उसके कारण आपकी पत्रिका अन्य ई पत्रिकाओं से अलग नजर आती है। इससे आपका स्तर बढ रहा है।

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget