महेन्द्र भीष्म हिन्दी और साहित्य जगत में चिर परिचित नाम है। आपके तीन कहानी संग्रह प्रकाशित हुए हैं। "जय हिन्द की सेना" शीर्षक से प्रकाशित आपका उपन्यास भारत और पाकिस्तान के बीच हुए 1971 के युद्ध पर आधारित है। 

आपकी नवीनतम उपन्यास कृति है "किन्नर कथा" 

प्रकाशक - सामयिक प्रकाशन, दरियागंज, नयी दिल्ली 
दूरभाष - 01123270715
पुस्तक मूल्य - 300 रुपये

यह उपन्यास किन्नरों के जीवन पर आधारित है तथा अपनी विषय विविधता तथा सशक्त कथानक के कारण चर्चा में है। 

9 comments:

  1. Nice..Seems to be good book. I'll try to get it from Samyik Prakashan. Thanks for the information.

    उत्तर देंहटाएं
  2. नया सा विषय लग रहा है। अवश्य पढना चाहूँगी। इसक पुस्तक का रिव्यू या कोई अंश भी प्रकाशित करें।

    उत्तर देंहटाएं
  3. निधि जी से सहमत हूँ। यह विषय अपने आप में इतना नया लग रहा है कि इसका कोई अंश भी प्रस्तुत करते तो अच्छा होता।

    उत्तर देंहटाएं
  4. राजीव जी इस उपन्यास का कोई अंश साहित्य शिपी पर प्रस्तुत करने का आग्रह तो मैं भी करूंगी।

    उत्तर देंहटाएं
  5. जरूर पढूंगा।

    उत्तर देंहटाएं
  6. This is an extraordinary Novel . I really appreciate the unforgettable affords of Respected Mahendra Bhism . I wish Respect Author all the Best. In my opinion, this will be proved as mile stone of Sahitya Jagat. Once again I highly appreciate Hon. Mahendra Bhism.
    Dr. R. K. Dixit
    Chief Author “Global Journals Inc.”
    Globaljournals.org

    उत्तर देंहटाएं
  7. tikakaro ko dhanyavad Kinner Katha per review India Today me 4 april 20`12 ke unk me aaya he . Krpya dekhana chahe ?

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget