IMAGE1
एक मुस्कान ठहरी है तेरे होठों में
जरुर किसी ने सपनो को गुदगुदाया होगा
नहीं है चहरे में कोई काला बादल
वफ़ा के गीत फिर कोई
तेरे कानों में गुनगुनाया होगा


 शिव कुमार यादव रचनाकार परिचय:-



शिव कुमार यादव
डी. 170 – आर.एम.एस.कालोनी
टैगोर नगर / रायपुर / छत्तीसगढ़
मोबाईल- 09407625051

माना की तल्ख़ है जिंदगी का सफ़र
जीने के लिए हौसला चाहिए
मंजिल दूर नहीं होती सपनो की
जंग लड़ने का फैसला चाहिए
तुम बहुत मासूम हो,पाक इरादे हैं
जिंदगी की वादियों में तैरते वादे हैं
लगता है पढ़ लिया जिंदगी की किताब
किसी लफ्ज ने तुम्हें भरमाया होगा

देख रहा हूँ शोखियाँ तेरी आँखों में
खिल रहे फूल जैसे चाहत की शाखों में
संजीदा चहरे पे नूर आ गया है
जैसे जिंदगी में जीने का सुरूर आ गया है
वक्त ने फिर सपनों को सहलाया होगा

Xxxxxxxxxxxxxxxxxxx

1 comments:

  1. फेसबुक पर
    Lal Baghel, Rakesh Chandra Sharma, Abhishek Sagar और 3 अन्य को यह पसंद है.
    टिप्पणियाँ
    Shobha Yadav
    Shobha Yadav Sir, saw u after long time. Hope U r fine ? Will come to meet U any day.
    पसंद · जवाब दें · 28 जनवरी को 10:48 पूर्वाह्न बजे

    Rakesh Chandra Sharma
    43 आपसी मित्र
    मित्र
    मित्र
    Vinod Malviya
    22 आपसी मित्र
    मित्र
    मित्र
    Lal Baghel
    117 आपसी मित्र
    मित्र
    मित्र
    Nitin Sinha
    145 आपसी मित्र
    मित्र
    मित्र
    Shobha Yadav
    45 आपसी मित्र
    मित्र
    मित्र
    Abhishek Sagar
    94 आपसी मित्र

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget