IMAGE1


 शोभा जैन रचनाकार परिचय:-







1-नाम – शोभा जैन
2-जन्म तिथि - ०४ सितम्बर १९८२ हरदा [जिला] मध्यप्रदेश
3-शिक्षा – एम.ए.[हिन्दीसाहित्य] पी-एच.डी.रिसर्च स्कालर शोध विषय -
[हिंदी साहित्य की विविध विधाओं में डॉ.प्रभात कुमार भट्टाचार्य का योगदान ]
4-कार्य क्षेत्र – एक शोधार्थी के रूप में, एवं मुख्य रूप से आलेख,लघु कहानी,कविताओं,शोध पत्र लेखन में सक्रीय।
5-प्रकाशन -- लघु कहानी-‘किशोर मन का प्रेम’ –राष्ट्रीय ‘समावर्तन’ मासिक पत्रिका अंक जनवरी २०१६,आलेख –सोशल साईट्स और लोकव्यवहार- साहित्य कुञ्ज मासिक पत्रिका अंक मार्च २०१६, दो लम्बी कवितायेँ –रचनाकर अंतर्जाल पत्रिका में प्रकाशित अंक फरवरी २०१६ तथा मुद्रित अमुद्रित पत्र-पत्रिकाओं प्रकाशन एवं ‘स्थानीय अखबार व्हाईस आफ हरदा’ में २००० से २००२ तक निरंतर प्रकाशन |
5-संपर्क – ‘शुभाशीष’, सर्वसम्पन्न नगर इंदौर, मध्यप्रदेश
6 – मोबाईल नम्बर-9977744555
7- ईमेल-idealshobha1@gmail.com




मैं कोई कविता नहीं
न ही तुम्हारे जीवन का छंद ।
जिसे पढ़कर तुम मुदित हो जाते हो,
मुदित करते हो ओरो को ।
मैं वो प्रसंग भी नहीं,
जो चर्चा का विषय बन जाय।
न ही किसी के जीवन का रंगमंच
जिसे देखने भीड़ जमा हो जाय
मैं महाकाव्य हूँ।
जिसे पढ़ पाना ,
पढ़ कर समझ पाना,
किसी के महाकवि होने का प्रमाण है।




5 comments:

  1. धन्यवाद शोभा जैन जी ! विचार उत्तम हो तो 'कवि और कवि की कविता' की तुलना तुलनात्मक तरीके से करने में विविध विचारों में भिन्नता का होना स्वाभाविक हो जाता है ....

    उत्तर देंहटाएं
  2. रमेश कुमार2 मई 2016 को 3:06 pm

    अच्छी कविता...

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छी रचना !
    लेकिन कुछ मात्राओं की त्रुटि है ।

    बधाई ।

    अवनीश तिवारी

    उत्तर देंहटाएं
  4. शोभा जी ये कविता बहुत ही सशक्त है

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget