HeaderLarge

नवीनतम रचनाएं

6/recent/ticker-posts

माँ आज शिक्षक दिवस है [शिक्षक दिवस पर विशेष बाल कविता] - रचना सागर

माँ आज शिक्षक दिवस है
जल्दी से मुझ को नहला दो
सुन्दर सी कोई ड्रेस पहना दो
थोडी सी लिपस्टिक लगा दो
बन जाउं मैं मैडम
माँ आज शिक्षक दिवस है
रचनाकार परिचय:-
रचना सागर का जन्म 25 दिसम्बर 1982 को बिहार के छ्परा नामक छोटे से कस्बे के एक छोटे से व्यवसायिक परिवार मे हुआ। इनकी शिक्षा-दीक्षा भी वहीं हुई। आरंभ से ही इन्हे साहित्य मे रूचि थी। आप अंतर्जाल पर विशेष रूप से बाल साहित्य सृजन में सक्रिय हैं।

मुझ को रंग बिरंगे उपहार दिला दो
मैं दूंगी उपहार
अपनी अनीता मैम को
जो देती हर रोज मुझे
ज्ञान और प्यार भी
लगती है वो मुझको प्यारी
माँ आज शिक्षक दिवस है

माँ तुमने ही बतलाया था
राधाकृष्णन जी का जन्मदिन
जिसे गुरू के सम्मान में
मनाते है हम
गुरू बिना ज्ञान नहीं पाता कोई
मेरा शत शत नमन गुरु को
माँ आज शिक्षक दिवस है

एक टिप्पणी भेजें

9 टिप्पणियाँ

  1. बहुत अच्छी कविता है रचना जी।

    जवाब देंहटाएं
  2. शिक्षक सिवस की शुभकामनायें।

    जवाब देंहटाएं
  3. शिक्षक दिवस पर ......मेरी शुभ-कामनाएँ.....

    जवाब देंहटाएं
  4. शिक्षक दिवस पर अच्छी रचना।

    जवाब देंहटाएं
  5. rachna kitna pyara likha hai.aap sabhi ko tearch's day ki shubh kamnayen
    rachana

    जवाब देंहटाएं
  6. शिक्षक दिवस के अनुकूल सुन्दर बाल कविता

    जवाब देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

आइये कारवां बनायें...

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...