बिग बॉस का बुलावा


नौकरी का झांसा


यही कमी है..

--------------
नाम: सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट )
आयु: ४७ वर्ष
पेशा: स्वतंत्र कार्टूनिस्ट
अन्य जानकारियां कार्य अनुभव २५ वर्षों का ! अबतक १५००० हजार से भी अधिक कार्टून प्रकाशित!
कुछ प्रमुख पत्र-पत्रिकाएं जहाँ कार्टून प्रकाशित हुए या हो रहे हैं:
दैनिक हिंदुस्तान, प्रभात खबर, रांची एक्सप्रेस, सन्मार्ग, अपनी रांची, देशप्राण, सरिता, मेरी सहेली, वामा, गृह सहेली, बिंदिया, प्रथम प्रवक्ता, नूतन कहानियाँ, सच्ची कहानियां, सरस सलिल, दी पब्लिकअजेंडा, राज माया, संपादक, नंदन, बाल भारती, बाल हंस, बाल भाष्कर, दीवाना तेज साप्ताहिक, लोटपोट, मधुमुस्कान, आनंद डाइजेस्ट, मेला, माधुरी, आदि.....
ब्लोग्स- http://sureshcartoonist.blogspot.com. www.sahityashilpi.com

15 comments:

  1. बहुत सुंदर जी.
    आप को ओर आप के परिवार को दिपावली की शुभकामानायें.

    जवाब देंहटाएं
  2. तीनो जबरदस्त हैं
    दिपावली की शुभकामानायें.

    जवाब देंहटाएं
  3. सभी कार्टून टेलिविज़न के स्क्रीन की तरह स्पष्ट और संवाद में जबरदस्त हैं.

    शर्मा जी की दीपावली की शुभकामनाएं !

    जवाब देंहटाएं
  4. स्कूल के टीचरो वाले व्यंग्य द्वारा बडी समस्या की ओर आपने इशारा किया है।

    जवाब देंहटाएं
  5. विशेषज्ञ के कार्टून हैं। सुन्दर।

    जवाब देंहटाएं
  6. सभी भाई-बहनों व मित्रों को धनतेरस की मंगल कामनाएं !

    जवाब देंहटाएं
  7. समसामायिक समस्याओं पर सटीक कार्टून...
    यही आज की मांग है... आभार

    जवाब देंहटाएं
  8. jai ho sir ji

    namaskar

    aapke caroons ne to jalwa dha diya hai ..

    regards

    vijay

    जवाब देंहटाएं
  9. सुरेश जी आपके कार्टून धार-दार व्यंग्य के कारण याद रह जाते हैं।

    दीपावली की शुभकामनायें।

    जवाब देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Get widget