शिक्षक तेरा धन्यवाद , दिया है तुमने हमे वरदान ,
हूँ जहाँ भी मै उसमे तेरा है बड़ा योगदान,
नही है शब्द कैसे करू मै तेरा धन्यवाद,
बस चाहिए तेरा आशीर्वाद,
शिक्षक की महिमा कभी होगी ना कम,
भले कर ले कितनी ही उन्नति हम,
शिक्षक तेरा धन्यवाद!

शिक्षक तू है शिक्षा का सागर,
शिक्षक बांटे ज्ञान बराबर,
शिक्षक तू है मेरा भगवान्,
माता पिता का नाम तू है दूजा,
प्यासे को जैसे मिलता पानी ,
शिक्षा तू है वो ही जिंदगानी ,
शिक्षक तू ना देखे जात-पात ,
तू न करता कभी पक्ष-पात ,
निर्धन हो या हो धनवान ,
तू सबको समझे एक-सामान ,
शिक्षक तू है मांझी नाव- किनारा ,
तू ही देता डूबते को किनारा ,
शिक्षक तू सदा ही कहता - "श्रम लगन है सच्चा गहना "
शिक्षक तेरा धन्यवाद, तुझको करती हूँ मै शत-शत प्रणाम
-
ज्योति चौहान ,सेक्टर -२२,नॉएडा

2 comments:

  1. शिक्षक तू सदा ही कहता - "श्रम लगन है सच्चा गहना "
    शिक्षक तेरा धन्यवाद, तुझको करती हूँ मै शत-शत प्रणाम

    जवाब देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Get widget