HeaderLarge

नवीनतम रचनाएं

6/recent/ticker-posts

कह उसे जो बात दिल में [कविता] - श्यामल सुमन

Photobucket


श्यामल सुमनरचनाकार परिचय:-



श्यामल सुमन
रोकने से क्या रुकेगा, प्यार का जज्बात दिल में
वो घड़ी मुश्किल सही पर, कह उसे जो बात दिल में

नैन समझे जब इशारे, क्यूँ भला तुम दर्द सहती
बाँट लेगा वो खुशी से, दर्द की सौगात दिल में

भाव सच्चा दिल में लेकर, सामने वो सर झुकाये
कह दो खुल के क्यूँ हो विह्वल, दो नहीं आघात दिल में

मानता नाजुक घड़ी है, कर पहल अपनी तरफ से
आँख के बदले में उसके, है शुरू बरसात दिल में

तोड़ कर के बेड़ियाँ सब, मुस्कुरा चाहत मेरी है
स्वप्न में सजते सुमन, और याद की बारात दिल में

टिप्पणी पोस्ट करें

1 टिप्पणियां

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

आइये कारवां बनायें...

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...