HeaderLarge

नवीनतम रचनाएं

6/recent/ticker-posts

मेरी कविता [कविता]- मनोरंजन कुमार तिवारी




रचनाकार परिचय:-


नाम:- मनोरंजन कुमार तिवारी जन्म तिथि:- 06/01/1980 जन्म स्थान:- भदवर, जिला- बक्सर, बिहार पिता का नाम:- श्री कामेश्वर नाथ तिवारी गाँव:- भद्वर, जिला- बक्सर, बिहार वर्तमान पत्ता:- C/o- कर्ण सिंह, गाँव- घिटोरनी, नजदीक "तालाब",नई दिल्ही-30 मोबाइल न.- 9899018149 Email ID- manoranjan.tk@gmail.com

एक कदम बढाते ही,
भरभरा कर बिखर जाती है कविता,
स्वार्थांधता, क्षोभ और अहंकार से,
सहम जाती है कविता,
ईर्ष्या, कड़वाहट और जीवन के विषमताओं के अँधेरे में,
भटक जाती है कविता,
कविता, जो अब रही ही ना मुझमें,
किसी ने बड़ी बेरहमी से,
निचोड़ ली मेरे अंतस की सारी कविताएं,
और छोड़ दिया मुझे अकेले जीवन के महासमर में,
सहने को अनन्त यातनाएं,
अब कानों में यों ही किसी के फुसफुसाने की आवाज नहीं आती,
ना कोई परिचित गंध, सांसों से आकर टकराती है,
अब तो अनगिनित शोर, संतापों और प्रताड़नाओं के,
नीचे दफन हो जाती है कविता,
कितनी कोशिशें करता हूँ की,
संजोकर, सहेजकर रख सकूँ उन सारे अक्षरों को,
जो मुस्कुराहट भारते है, मेरी कविताओं में,
मगर आत्मग्लानि और पश्चताप के आँसुओं में,
बह जाती है कविता,
लाख जतन करता हूँ की,
मुरझाने से बचा लूँ अपनी कविता को,
मगर भय, भूख और दरिद्रता के लू में,
झुलस जाती है कविता।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

आइये कारवां बनायें...

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...