HeaderLarge

नवीनतम रचनाएं

6/recent/ticker-posts

बाल दिवस [कविता]- रचना सागर



आया है बाल दिवस का त्योहार

 चाचा नेहरू लेकर आए सबके लिए उपहार

 मुन्नू को मिली कार

 चुन्नू के लिए मोटर कार

 डिंपी के ले आया गुड़ियों का संसार

  सिम्मी के लिए है रोबोट तैयार 

आया है बाल दिवस का त्योहार

 चाचा नेहरू लेकर आए सबके लिए उपहार

 रिमी के लिए रसमलाई आई

 गोलू के लिए तो सजी है सारी मिठाई

 मुंह फुलाए नैना  भी आई

 उसके लिए क्या है विशेष भाई

आया है बाल दिवस का त्योहार

 चाचा नेहरू लेकर आए सबके लिए उपहार

 हम  चलती नहीं चाबी वाले

 गुड़िया ,मोटर, रेलगाड़ी ,भालू और बंदर

  बटन  दबाने भर से चलता है

 सारा  इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम

आया है बाल दिवस का त्योहार

 चाचा नेहरू लेकर आए सबके लिए उपहार

अंतर्मन को जिंदा रखो

 सच्चाई अपनाओ

 देश के लिए तुम सदा जीना

 देश के  खाते जान गवाओ

आया है बाल दिवस का त्योहार

 चाचा नेहरू लेकर आए सबके लिए उपहार


एक टिप्पणी भेजें

8 टिप्पणियाँ

  1. जी नमस्ते ,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (१४-११-२०२०) को 'दीपों का त्यौहार'(चर्चा अंक- ३८८५) पर भी होगी।
    आप भी सादर आमंत्रित है
    --
    अनीता सैनी

    जवाब देंहटाएं
  2. दीप पर्व की मंगलकामनाएं। सुन्दर सृजन।

    जवाब देंहटाएं
  3. आपको बालदिवस के शुभ अवसर और दीपवली के पावन पर्व पर आपकी कविता के लिए आपको बहुत,बहुत धन्यवाद,जो बालक के जीवन के महत्त्व को बहुत सम्बल प्रदान करती है।

    जवाब देंहटाएं
  4. बहुत-बहुत धन्यवाद आपको भी दीपावली और भाई दूज की बहुत-बहुत बधाई

    जवाब देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

आइये कारवां बनायें...

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...