HeaderLarge

नवीनतम रचनाएं

6/recent/ticker-posts

मेरे सपनों का भारत [बाल कविता]: रचना सागर


आज हमारे लिए बड़े सौभाग्य की बात है की हमें हर साल 26 जनवरी को गणतन्त्र  दिवस मनाने का मौका मिलता है| हर साल की तरह इस साल भी सभी को इस दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाए व इस दिवस पर पेश है मेरे नई बाल कविता "मेरे सपनों का भारत

  

मेरे सपनों का भारत [बाल कविता]: रचना सागर 


मेरे भारत में ना कोई भुखमरी से मरे
हर जवान काम मेहनत से करें

ना किसी हिंदुस्तानी का मन बिके
यहाँ सभी अच्छे गुण ही सीखेँ

यहां पर ना हो भ्रष्टाचार का नामोनिशान
प्रगति का पथ सीखें.... यहां पर हर इंसान

हर सैनिक करें दुश्मनों को लहूलुहानन
न करें अपनी जान कुर्बान

गरीबी व अशिक्षा से मिलें इसे छुटकारा
चमके हर बालक बन एक सितारा

यहाँ कभी ना बैठे कोई युवक बेकार
यहाँ पर हो नौकरियों की भरमार

मेरा भारत बन जाए पृथ्वी का गहना
इसकी उन्नति का क्या कहना

बढ़ती रहेंगी इस तिरंगे की शान
सारे जग से प्यारा मेरा हिंदुस्तान


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

आइये कारवां बनायें...

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...