उन्होने बताया कि हमें गांधीजी के मार्ग पर चलना चाहिए, और खुद जेनेवा जाने वाले मार्ग पर चले गये। स्विटजरलैंड में सुना है, उनके स्विस खाते हैं।

कई हैं, जो हमें महात्मा गांधी मार्ग पर ठेलकर खुद पेरिस के मार्ग पर चल निकलते हैं। मेरे शहर में महात्मा गांधी मार्ग का अंत बार पर होता है। बार में अपनी दिलचस्पी नहीं है। महात्मा गांधी मार्ग पर वह चलें, जिनकी बार में दिलचस्पी हो।

वैसे महात्मा गांधी मार्ग पर चलाने वाले एक मेरे शहर में विधायक हो गये और दारु के पांच ठेके उन्ही के हैं। बोले तो महात्मा गांधी मार्ग पर चलकर सिर्फ बार ही नहीं मिलता, दारु के ठेके भी मिल जाते हैं, अगर बंदा कायदे से मन लगाकर महात्मा गांधी मार्ग पर चले तो। एक हैं जो हमें तो बताते हैं कि हमें महात्मा गांधी के मार्ग पर चलना चाहिए, पर खुद रतन लाल मटका किंग के मार्ग पर चले जाते हैं। शहर में पांच जगह जुआ खेलने के अड्डे उन्ही के हैं।

मैंने उनसे पूछा कि आप तो खुद अलग रास्ते पर चलते हैं, और हमें अलग रास्ते पर भेज जाते हैं। तो उन्होने हंसकर बताया कि सब एक ही राह पर चलेंगे, तो ट्रेफिक हो जायेगा।

महात्मा गांधी मार्ग पर इसलिए बहुत ट्रेफिक हो गया है, यह बात अब समझ में आ गयी है। बोले तो अकलमंदी इसी में है कि बंदा खुद तो किसी और इंटरेस्टिंग से मार्ग चल चल निकले, और बाकियों से आह्वान कर दे कि चले रहो, भईया महात्मा गांधी मार्ग पर।

खैर, जानकारों के मुताबिक कतिपय रोचक मार्ग इस प्रकार हैं-

1- क्लिंटन मार्ग-इस मार्ग पर चलकर कई जातक कई सुंदरियों का प्यार हासिल कर सकता है। यह अलग बात है कि इसका अंत पिटाई आदि पर होता है। पर एक मार्ग पर चलने की प्रतिबद्धता बंदा दिखा ले, तो फिर पिटाई कुटाई से क्या डरना। पिटाई तो हर महत्वपूर्ण मार्ग में है। बंदा ग्रेटर नोएडा मार्ग पर निकल जाये, तो डाकू ठुकाई पिटाई करके सब कुछ लूट लेते हैं। क्लिंटन मार्ग जैसे महत्वपूर्ण मार्ग पर चलने की इच्छा रखने वाले जातक को पिटाई से ना घबराना चाहिए।

2- बुश मार्ग, जिसमें बंदा दूसरे देशों के पेट्रोल पर कब्जा कर लेता है। पहले मैं एक लोकल विधायकजी के रास्ते पर चलने का सपना देखता था। इस रास्ते पर चलकर दो पेट्रोल पंप हासिल किये जा सकते थे, उन्होने किये थे। बुश मार्ग पर चलकर पेट्रोल पंप नहीं, किसी देश के पेट्रोल पर ही कब्जा किया जा सकता है।

3- रामविलास पासवान मार्ग-इस मार्ग पर चलकर बंदा हर सरकार में मंत्री बन जाता है।

***** 

13 comments:

  1. गहरा व्यंग्य है। बापू के मार्ग पर अब चलने वाले कहाँ हैं? बस उनके नाम पर मार्ग बर रह गये हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. गाँधी मार्ग आज स्विस मार्ग की ओर जाने का शॉर्टकट है। करारा व्यंग्य है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. ठीक कह रहे है ब्लोगों में भी कितने गांधीवादी आ गये है आज.

    उत्तर देंहटाएं
  4. गाँधी जी को भुला ही दिया गया है। नेता, अफसर और आम जन भी गाँधी से अब जुडते नहीं हैं। गाँधी का रास्ता अब सडक का नाम भर है। व्यंग्य तीखा है और चुभता है। आत्मावलोकन कराता है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. न केवल अच्छा कटाक्ष है बल्कि सच को उजागर भी करता है।

    उत्तर देंहटाएं
  6. Good satire. Bapu ko naman.

    Alok Kataria

    उत्तर देंहटाएं
  7. करारा व्यंग्य.....


    नमन ...पूज्य महात्मा को.....



    "

    उत्तर देंहटाएं
  8. लोगों की मानसिकता को दर्शाते तीखे कटाक्ष.....

    उत्तर देंहटाएं
  9. पंकज सक्सेना31 जनवरी 2009 को 9:27 am

    आपने बाकी जितने मार्ग बताये हैं वे सारे एक्स्प्रेस हाईवे हो गये हैं। गाधी मार्ग पर 1948 के बाद मेंटेनेंस नहीं हुआ है। लोग चलें तो चलें कैसे?

    उत्तर देंहटाएं
  10. जी आजकल चलन है बाहर बोर्ड कुछ और होता है और अन्दर सामान कुछ और..इस रंग बदलती दुनिया में इन्सान की नीयत ठीक नहीं....

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget