आज साहित्य शिल्पी परिवार में सम्मिलित हो रहे हैं कार्टूनिष्ट सुरेश शर्मा। प्रस्तुत हैं सामयिक विषयों पर उनकी कुछ कार्टून कृतियाँ। साहित्य शिल्पी पर उनके कार्टूनों में अंतर्निहित पैनी व्यंग्य क्षमता का आनंद अब नीयमित लिया जा सकेगा।






परिचय
--------------
नाम: सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट )
आयु: ४७ वर्ष
पेशा: दैनिक हिंदुस्तान रांची,में १० वर्षों से बतौर कार्टूनिस्ट कार्यरत !
अन्य जानकारियां- कार्य अनुभव २५ वर्षों का ! अबतक १५००० हजार से भी अधिक कार्टून प्रकाशित!
कुछ प्रमुख पत्र-पत्रिकाएं जहाँ कार्टून प्रकाशित हुए या हो रहे हैं:
दैनिक हिंदुस्तान, प्रभात खबर, रांची एक्सप्रेस, सन्मार्ग, अपनी रांची, देशप्राण, सरिता, मेरी सहेली, वामा, गृह सहेली, बिंदिया, प्रथम प्रवक्ता, नूतन कहानियाँ, सच्ची कहानियां, सरस सलिल, दी पब्लिकअजेंडा, राज माया, संपादक, नंदन, बाल भारती, बाल हंस, बाल भाष्कर, दीवाना तेज साप्ताहिक, लोटपोट, मधुमुस्कान, आनंद डाइजेस्ट, मेला, माधुरी, आदि.....
ब्लोग्स- http://sureshcartoonist.blogspot.com. sahityashilpi@gmail.com

14 comments:

  1. बहुत आभार.
    श्री गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभ कामनाएं-
    आपका शुभ हो, मंगल हो, कल्याण हो |

    उत्तर देंहटाएं
  2. हा...हा...हा...


    मज़ेदार...

    सबसे बढिया आदिमानव वाला लगा

    उत्तर देंहटाएं
  3. कार्टून तीनों ही अच्छे है पर स्वाईन फ्लू पर सटीक व्य़ँग्य है। साहित्य शिल्पी पर आपका अभिनंदन।

    उत्तर देंहटाएं
  4. एक से बढकर एक कार्टून्‍स .. बहुत सुंदर !!

    उत्तर देंहटाएं
  5. भाव, बिम्ब, रस, शिल्प में, रेखाएं दी जोड़.

    श्री सुरेश ने बनाये, व्यंग चित्र बेजोड़..

    साधुवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  6. सबसे पहले तो मैं आभार मानूंगा साहित्य शिल्पी परिवार का जिन्होंने मुझे साहित्य शिल्पी से जोड़ा, बहुत-बहुत आभार ! मैं संगीताजी, समीरजी,रूप चंद्रजी, राजीव तनेजाजी,नितेशजी,नर्मदाजी का भी आभारी हूँ जिन्होनें अपनी टिपण्णी के द्वारा कार्टूनों को सराहा ...आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  7. तीखे व्यंग्य बहुत प्रभावी सभी कार्टून।

    उत्तर देंहटाएं
  8. आपके कार्टून बहुत अच्छे हैं, बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  9. सुरेश जी साहित्य शिल्पी पर स्वागत। आपके कार्टूनों नें जम कर गुदगुदाया।

    उत्तर देंहटाएं
  10. स्वागत सुरेश जी ...

    शिल्पी के मंच पर पहली बार में ही आपके चौकों छ्क्कों का अवलोकन कर आनंद आ गया विशेष कर मंह्गाई पर आपका कार्टून तीखा होने की साथ साथ जनसाधारण के रोष की अभिव्यक्ति भी है. - आभार बन्धु.

    उत्तर देंहटाएं
  11. बड़े हीं प्रभावी चित्र हैं सारे!!!

    बधाई स्वीकारें।
    -विश्व दीपक

    उत्तर देंहटाएं
  12. ananyaji, abhishekji,anilji,srikantji,vishwashji,aur vishwadeepakji, aap sabka dil se aabhaar...!

    उत्तर देंहटाएं

आपका स्नेह और प्रस्तुतियों पर आपकी समालोचनात्मक टिप्पणियाँ हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा प्रदान करती हैं.

पुस्तकालय

~~~ साहित्य शिल्पी का पुस्तकालय निरंतर समृद्ध हो रहा है। इन्हें आप हमारी साईट से सीधे डाउनलोड कर के पढ सकते हैं ~~~~~~~

डाउनलोड करने के लिए चित्र पर क्लिक करें...

आइये कारवां बनायें...

साहित्य शिल्पी, हिन्दी और साहित्य की सेवा का मंच, एक ऐसा अभियान.. जो न केवल स्थापित एवं नवीन रचनाकारों के बीच एक सेतु का कार्य करेगा अपितु अंतर्जाल पर हिन्दी के प्रयोग और प्रोत्साहन का एक अभिनव सोपान भी है, अपने सुधी पाठको के समक्ष कविता, कहानी, लघुकथा, नाटक, व्यंग्य, कार्टून, समालोचना तथा सामयिक विषयो पर परिचर्चाओं के साथ साहित्य शिल्पी समूह आपके समक्ष उपस्थित है। यदि राष्ट्रभाषा हिदी की प्रगति के लिए समर्पित इस अभियान में आप भी सहयोग देना चाहते हैं तो अपना परिचय, तस्वीर एवं कुछ रचनायें हमें निम्नलिखित ई-मेल पते पर प्रेषित करें।
sahityashilpi@gmail.com
आइये कारवां बनायें...

Followers

Google+ Followers

Get widget